Friday, September 2, 2016

Naam ka Gubbara Hindi Motivational Story (Moral Story)

 on  with No comments 
In , ,  
नाम का गुब्बारा Hindi Motivational Story (Moral Story)
 एक बार पचास लोगों का ग्रुप किसी मीटिंग में हिस्सा लिया। मीटिंग शुरू हुए अभी कुछ ही समय हुआ था , की स्पीकर अचानक बोलते हुए रुका और सभी प्रतियोगियों को गुब्बारे देते हुए कहा, "आप सभी को इस गुब्बारे पे  अपना नाम लिखना है। " सभी प्रतियोगियों ने ऐसा ही किया। अब गुब्बारों को एक दुसरे कमरे में रख दिया गया। स्पीकर ने सभी प्रतियोगियों को ५ मिनट में अपना नाम वाला गुब्बारा ढूंढने के लिया कहा।

सारे प्रतियोगी तेजी से कमरे में घुसे और पागलों की तरह अपने नाम का गुब्बारा ढूंढने में लग गए। पर इस अफरा-तफरी में किसी को भी अपने नाम का गुब्बारा नहीं मिला। ५ मिनट बाद स्पीकर ने सभी को बाहर बुला लिया गया। स्पीकर ने बोला, "अरे! आप सभी खाली हाथ क्यों हैं ? क्या किसी को भी अपने नाम वाला गुब्बारा नहीं मिला ?"

प्रतियोगियों ने कहा, नहीं ! हमने बहुत ढूंढा किन्तु हमे हमारे नाम वाला गुब्बारा नहीं मिला। स्पीकर ने फिर कहा, "कोई बात नहीं आप लोग एक बार फिर प्रयास कीजिये। इस बार जिसे जो गुब्बारा मिले  उसे अपने हाथ  में ले और उस व्यक्ति को दे दें जिसका नाम उस गुब्बारे पे लिखा हो।

एक बार फिर सभी प्रतियोगी कमरे में गए, पर इस बार सब शांत थे, और कमरे में किसी प्रकार की अफरा-तफरी नहीं मची थी, और न ही कोई शोर हो रहा था। सभी ने इस बार एक  दुसरे को उनके नाम का गुब्बारा दिया। और सभी  प्रतियोगी इस बार तीन मिनट में ही बाहर आ गए।

स्पीकर ने गंभीर होते हुए  कहा, "बिलकुल यही बात हमारे जीवन में भी हो रही है। हर कोई अपने लिया ही जी रहा है। उसे इससे कोई मतलब नहीं है की वह किस तरह  लोगों की मदद कर कर सकता हैं। हमारी ख़ुशी दुसरो की ख़ुशी में छिपी हुई है। जब हम लोगो को खुशियां देना सीख जायेंगे, तो अपने आप ही हमे हमारी खुशियां मिल जाएँगी।

उम्मीद करती हूँ की आप सभी Hindi motivational story (Moral Story) पसंद आयी होगी। ऐसी और भी Hindi motivational story (Moral Story)के लिया आप मेरा link भी save कर सकते हैं। www.achhesandesh.

Tags-Hindi Motivational Story,Moral story,Inspirational story.
Share:

0 comments:

Post a Comment