Wednesday, August 3, 2016

Ye Kya Hai? Hindi Motivational Story

 on  with No comments 
In , , , ,  

                       Ye Kya Hai?

          Hindi Motivational Story

                   
www.achhesandesh.in


 एक बार की बात है, एक व्रद्ध आदमी पार्क में अपने पुत्र के साथ बैठा हुआ था। जँहा वह बैठा था उसके पीछे एक वृक्ष था। उस व्रद्ध आदमी ने एक पंछी को उस वृक्ष पे बैठे हुए देखा। व्रद्ध आदमी अपने पुत्र से पूछता है, ये क्या है? पुत्र बोलता है, पिताजी ये कौआ है।

व्रद्ध व्यक्ति फिर अपने पुत्र से पूछता है, की ये क्या है? पुत्र बोलता है, पिताजी मैंने आपको पहले भी बताया था की ये कौआ है। व्रद्ध आदमी फिर से अपने पुत्र से पूछता है, ये क्या है? पुत्र क्रोध में आकर बोलता है - की पिताजी आप पागल हो गए है या फिर आपका दिमाग ख़राब हो गया है, मैंने आपको पहले भी बताया था की ये कौआ है फिर भी आप मुझ से बार बार पूछ रहे है की ये  क्या है जबकि मैं आपको पहले भी बता चूका हूँ की कौआ है फिर भी आपको क्यों नहीं समझ आ रहा है।

व्रद्ध आदमी फिर धैर्य से अपने पुत्र से कहता है- मेरे प्यारे पुत्र जब तुम पाँच वर्ष के थे, तुमने मुझसे एक ही सवाल १२० बार पूछा की पिताजी,ये क्या है? और मैं हर बार स्नेह और प्यार से तुम्हे यही कहता की बेटा ये कौआ है। लेकिन आज जब मैंने तुमसे ३ बार यही प्रश्न किया तो तुम्हे गुस्सा आ रही है।

यही अंतर होता है पिता के स्नेह और पुत्र के प्यार में।
हमे अपना फर्ज अदा करना चाहिए, जब हमारे माँ बाप हम पे निर्भर हो हमे भी उनकी उसी तरह प्रेम और स्नेह देना चाहिए जैसे वे हमे करते है। हमे उन्हें कभी भी दुखी नहीं करना चाहिए।

अपने माँ बाप से प्यार करो, क्योंकि एक दिन आप भी उनकी जगह होंगे।
उम्मीद करती हूँ की आपको ये Hindi Motivational Story पसंद आयी होगी, हमें कुछ सिखने को मिला होगा।

Tags-
#hindi motivational story
#inspirational story
#love of parents
#learning


Share:

0 comments:

Post a Comment